ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ाने के लिए 4 मास्टर टिप्स

एक ब्लॉगर को सफल और पॉपुलर बनने मे उसके  सामने सबसे बड़ी दिक्कत यह होती है  की वह  ब्लॉग वेबसाइट का ट्रैफिक कैसे बढ़ाए? कोशिश हर ब्लॉगर करता है पर उनमे से  कुछ ही लोगों को सफलता  हासिल होती है। वो कुछ ही ब्लॉगर होते हैं जो अपने ब्लॉग वेबसाइट पर लाखों में दर्शक ला पाते हैं। आज हम आपको वेबसाइट पर ट्रैफिक या दर्शक बढ़ाने के लिए 4 मास्टर टिप्स और ट्रिक्स बताएंगे जो आपको पूरा पूरा परिणाम देगी। तो चलिए शुरू करते हैं अपनी ब्लॉग की ट्रैफिक कैसे बढ़ाए - 4 Master Tips to Increase your Blog Traffic in Hindi.
ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ाने के लिए 4 मास्टर टिप्स

ब्लॉग वेबसाइट पर दर्शक या ट्रैफिक बढ़ाने के लिए हर समय एक ही टिप्स काम नहीं करते हैं। समय के अनुसार  हमें अपने टिप्स, तरीके और फार्मूला बदलते रहना चाइये। हमें हर समय  नए तरीके अपनाने चाहिए। तभी हम अपनी ब्लॉग वेबसाइट पर वाकयी में दर्शक या ट्रैफ़िक बढा पाएंगे।

अपनी वेबसाइट का ट्रैफिक कैसे बढ़ाये - 4 मास्टर टिप्स

जिस तरह कोई भी वस्तु जितनी ज्यादा पॉपुलर होगी उतनी ही ज्यादा उसकी बिक्री होगी और मुनाफा होगा, बिल्कुल वैसे ही आपकी ब्लॉग  वेबसाइट पर  आपको जितने ज्यादा   दर्शक या ट्रैफिक मिलेंगे उतनी ही ज्यादा आपके ब्लॉग की आय होगी और आप एक पॉपुलर और एक सफल ब्लॉगर बन पाएंगे।

1. गूगल खोज (Google Search)

अब दर्शक या ट्रैफिक बढ़ाने का सबसे बढ़िया तरीका है आपकी साइड का गूगल में रैंक करना या गूगल के सर्च बार में टॉप में आना और इसके लिए आपको गूगल की गाइडलाइन का अनुसरण करना होगा।
अपनी ब्लॉग वेबसाइट को गूगल सर्च में रैंक करवाने के लिए आपको गूगल सर्च काउंसिल में अपनी ब्लॉग वेबसाइट को सबमिट करनी होगी।
उसके बाद आपको अपनी साइट को गूगल गाइडलाइन का अनुसरण करते हुए उसके अनुसार बनाना होगा। उदाहरण के लिए आपको साइट का डिजाइन, SEO , लोडिंग स्पीड, लेआउट आदि को  गूगल के अनुसार बनाना होगा। ताकि आपकी ब्लॉग वेेेबसाइट गूगल के सर्च बार में रैंक कर सके और टॉप में आ सके फिर आप अपनी ब्लॉग वेबसाइट पर गूगल से दर्शक और ट्रैफ़िक पा सकते है।

2. ट्रैफिक विश्लेषण (Traffic Analysis)

गूगल के अनुसार, आपको अपनी ब्लॉग वेबसाइट के दर्शक और ट्रैफिक बढ़ाने के लिए साइट ट्रैफिक का विश्लेषण, अनुकूलता, विवरण और दृश्यता प्राप्त करने की जरूरत होती है।
आपको ये तय करना होगा, की 
  • आपके दर्शक कौन है?
  • आपकी साइट पर कहां-कहां से दर्शक आते है?
  • ऑडियंस आप के कंटेंट को कितने समय तक पढ़ते हैं?
  • आपकी साइट के टॉप ट्रैफिक का जरीया क्या हैं?
  • आपकी साइट पर कौन-कौनसे कंटेंट को विजिटर ज्यादा पढ़ना पसंद करते हैं?
यह तय करने के उपरांत आपको समस्याओं के समाधानों को अपनाना  होगा और यह पता करना होगा कि आप और  क्या-क्या और भी अच्छा कर सकते हैं।
ट्रैफिक विश्लेषण करने के लिए आप अपनी साइट पर गूगल एनालिटिक्स का उपयोग कर सकते हो। ट्रैफिक विश्लेषण के लिए ये सबसे अच्छा और फ्री टूल है।

3. यूट्यूब चैनल (YouTube Channel)

अब टेक्स्ट कंटेंट की जगह वीडियो कंटेंट को ज्यादा पसंद किया जाता है। भविष्य में 5G टेक्नोलॉजी आने के बाद वीडियो कंटेंट की मांग और ज्यादा बढ़ेगी।
इसके लिए बेहतर होगा कि आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट के नाम से एक ही यूट्यूब चैनल बनाएं और अपने ब्लॉग पोस्ट्स के लिए वीडियो बनाएं और उनकी डिस्क्रिप्शन में अपने ब्लॉग पोस्ट का लिंक दे।
इससे ना सिर्फ आपके ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ेगा बल्कि आपके लिए एक अलग से प्लेटफॉर्म भी बन जाएगा जहां पर आपकी फेन फोल्लोविंग के साथ इनकम भी बढ़ जाएगी।

4. मोबाइल अनुकूल (Mobile Optimization)

मोबाइल ने अपडेट स्टॉप दृश्ये को पीछे छोड़ दिया है। अब लोग लैपटॉप्स और कंप्यूटर्स  से ज्यादा मोबाइल का ईस्तमाल करते हैं। ऐसे में यदि आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली नहीं है तो आप ट्रैफिक का एक बड़ा हिस्सा खो दोगे।
यहां मेरा आशय सिर्फ वेबसाइट को मोबाइल अनुकूल बनाना नहीं है। मेरा आशय यह है  कि आप मोबाइल दर्शको के लिए ही लिखना शुरु कर दें। ताकि आपको मोबाइल दर्शक ज्यादा मिले।
आपकी वेबसाइट का डिजाइन, पेज लोड स्पीड, लेआउट, उपयोगकर्ता अनुभव यह सब मोबाइल फ्रेंडली होना चाहिए।

निष्कर्ष,

भले ही आप ने वेबसाइट खुद बनाई हो या किसी अन्य व्यक्ति से बनवाई हो। आपको उसे ऑप्टिमाइज स्वयं ही करना होगा या फिर किसी ऐसे व्यक्ति से ये काम करवाना होगा , जिस पर आप पूर्णतया आस्वस्त हो।
इस वेबसाइट  पर बताई गई वेबसाइट ट्रेफिक बढ़ाने की टिप्स। वाकई बड़ी काम की है, हां मैं जानता हूं आपने उनके बारे में पहले भी सुन रखा होगा। फिर भी  अब मैं आपको इन्हें गंभीर रूप से लेने का सुझाव देता हूं।

Post a Comment

0 Comments